चाय विकास योजना 2024 : पाएं 50 से 90% सब्सिडी, आवेदन प्रक्रिया व लाभ

दोस्तों जैसे कि आप सब जानते है सरकार द्वारा किसानो को आर्थिक सहायता प्रदान करने के लिए योजनाए आरंभ की जाती है। इसी तरह Chai Vikas Yojana को संचालित किया गया ताकि लोगो की स्थिति मे सुधार आ सके और वह आत्मनिर्भर हो सके। इस योजना के तहत किसानो को चाय की खेती करने के लिए मदद दी जाएगी जिससे वह अच्छा पौधा खरीद सके और उत्पादन को भी बढ़ा सके। चाय विकास योजना के माध्यम से किसान अधिक मात्रा मे खेती करने के लिए प्रोत्साहित होंगे जिससे उनकी आय मे भी वृद्धि होगी। सरकार द्वारा 50 से 90 %सब्सिडी किसानो को खेती के लिए प्रदान की जाएगी और वह नई-नई तकनीकों का भी उपयोग करेंगे। अगर आप इस योजना से जुड़ी अधिक जानकारी प्राप्त करना चाहते है तो आप से निवेदन है कि इस आर्टिकल को पूरा ध्यान से पढ़ना होगा।

Chai Vikas Yojana

इस योजना के माध्यम से किसान चाय की खेती करने के लिए प्रेरित होंगे क्योकि उन्हें सरकार द्वारा 50 से 90 %सब्सिडी प्रदान की जाएगी। जो किसान चाय की खेती करते है वह नई तकनीकों का उपयोग कर सकेंगे जिससे किसानो की स्थिति मे भी सुधार आएगा। चाय विकास योजना के तहत 75.25 अनुदान दो किश्त मे दिया जाएगा और जिसके साथ किसान को पौध खुद खरीदना पड़ेगा। सरकार द्वारा किसानो को 2.47 लाख रु की सब्सिडी दी जा सकेगी ताकि आय मे भी बढ़ोतरी हो साथ चाय का उत्पादन भी बढ़ सकेगा। Chai Vikas Yojana के तहत अगर पौधे की स्थिति 90 %जीवित रहने की होगी तो 25 %राशि प्रति हेक्टेयर के हिसाब से प्रदान की जाएगी। किसानो को हॉर्टिकल्चर यंत्र भी उपलब्ध करवाई जाएंगे ताकि वह इन यंत्रो का इस्तेमाल करके अच्छे से खेती कर सके साथ ही अनुदान भी दिया जाएगा

बिहार पान विकास योजना

चाय विकास योजना Key Highlight

योजना का नाम                                                Chai Vikas Yojana
शुरू की गई                                                    बिहार सरकार द्वारा
लाभ                                                               राज्य मे चाय की खेती करने वाले नागरिको को प्राप्त होगा
उदेश्य                                                                किसानो को सब्सिडी प्रदान करके चाय की खेती के लिए प्रोत्साहित करना
राज्य                                                                   बिहार
सब्सिडी राशि                                                       2.47 लाख रु प्रति हेक्टेयर
टोटल लागत निर्धारित                                                          4.94 लाख रु
आवेदन प्रक्रिया                                                  ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट  https://horticulture.bihar.gov.in/

Objective of Chai Vikas Yojana

इस योजना का मुख्य उदेश्य किसानो सहायता व्यतीत करना ताकि वह खेती करने के लिए प्रोत्साहित हो। सरकार द्वारा किसानो को 50 से 90 %सब्सिडी प्रदान की जाएगी जिससे चाय के उत्पादन को भी बढ़ावा मिलगा और किसानो की स्थिति मे भी सुधार आएगा। चाय विकास योजना के माध्यम से चाय की खेती की लागत 4.94 लाख रु निर्धारित की गई है और सरकार द्वारा 2.47 लाख रु सब्सिडी प्रदान की जा सकेगी। सरकार द्वारा Chai Vikas Yojana के तहत दो किश्त मे 75.25 राशि उपलब्ध करवाई जाएगी। अगर 90 %पौधा जीवित रहता है तो प्रति हेक्टेयर के हिसाब से 25 %राशि का भुगतान किया जा सकेगा। हॉर्टिकल्चर यंत्र जैसे-प्रूनिंग मशीन, प्लकिंग शियर, लीफ कैरिज व्हीकल और मैकेनिकल हार्वेस्टर आदि के लिए अनुदान प्रदान किया जाएगा जिसे किसान आसानी से इस्तेमाल कर सकेंगे और चाय की खेती मे भी बढ़ोतरी होगी। 

दशरथ मांझी कौशल योजना 

चाय विकास योजना के लाभ

  • इस योजना के माध्यम से किसानो को चाय की खेती को बढ़ावा दिया जाएगा।
  • चाय की खेती करने वालो को दो किश्त मे 75.25 राशि प्रदान की जा सकेगी।
  • सरकार द्वारा 50 से 90 %राशि सब्सिडी के तौर पर दी जाएगी।
  • 2.47 लाख रु सब्सिडी प्रति हेक्टेयर के हिसाब से प्राप्त होगी।
  • आर्थिक रूप से कमजोर किसानो को लाभ मिलेगा जिससे उनकी आय मे भी वृद्धि हो सकेगी।
  • पहले की फसल 90 %जीवित रहती है तो 25 %प्रति हेक्टेयर के हिसाब से राशि प्रदान होगी।
  • Chai Vikas Yojana के तहत किसानो की स्थिति मे भी सुधार आएगा क्योकि हॉर्टिकल्चर यंत्रो पर भी सब्सिडी मिलेगी।
  • किसान नई-नई तकनीकों का इस्तेमाल चाय की खेती करने के लिए करेंगे।
  • पौध का सामान किसान को खुद खरीदना पड़ेगा और बाद मे सरकार द्वारा सब्सिडी प्रदान की जाएगी।
  • यह राशि सीधे लाभार्थी के बैंक कहते मे भेजी जाएगी।
  • किसान चाय की खेती के लिए प्रोत्साहित होंगे क्योकि चाय की कृषि करने के लिए टोटल लागत 4.94 लाख रु है।

Chai Vikas Yojana के लिए पात्रता

  • आवेदक को बिहार का मूल निवासी होना अनिवार्य है।
  • चाय की खेती करने वाले किसानो को इसका फ़ायदा मिलेगा।
  • किसान के पास 5 से 10 एकड़ भूमि चाय की खेती करने के लिए होनी ज़रूरी है।
  • चाय उगाने वालो को इसके पात्र माना जाएगा। 

चाय विकास योजना के तहत Required Document

  • आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आय प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • बैंक खाता नंबर
  • ज़मीन से संबंधित दस्तावेज
  • कृषि कार्ड

प्रधानमंत्री वय वंदना योजना 

Chai Vikas Yojana के अंतर्गत आवेदन प्रक्रिया

  • अगर आप इस योजना के तहत आवेदन करना चाहते है तो आपको सबसे पहले इस योजना की

आधिकारिक वेबसाइट पर जाना होगा।

Chai Vikas Yojana
  • वेबसाइट पर आपके सामने होम पेज खुल कर आएगा।
  • उसमे आपको स्कीम के ऑप्शन पर क्लिक करना पड़ेगा।
  • फिर आपको बिहार संचालित योजनाओ के नाम दिखाई देंगे।
  • उस पर आपको चाय विकास योजना के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करते ही आपके सामने योजना से जुड़ी मुख्य बाते आ जाएंगी।
Chai Vikas Yojana
  • उन्हें पढ़कर Agree and Continue के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • जैसे ही क्लिक करेंगे वैसे ही नया पेज खुल कर आएगा।
  • उसमे आपको आवेदन के प्रकार और पंजीयन सांख्य भरनी पड़ेगी।
  • फिर आपको सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक करना है।
  • क्लिक करने के बाद आपके सामने आवेदन फॉर्म खुल कर आएगा।
  • आवेदन फॉर्म मे पूछी गई सभी जानकारी आपको ध्यान से दर्ज करनी है।
  •  साथ सारे दस्तावेजों को भी अपलोड करना पड़ेगा।
  • लास्ट मे सबमिट के ऑप्शन पर क्लिक कर देना।
  • फॉर्म का प्रिंट निकलवाकर अपने पास सुरक्षित रख लेना।
  • इस तरह आपकी आवेदन प्रक्रिया पूर्ण रूप से पूरी हो जाएगी। 

FAQ’s

Que : चाय विकास योजना का मुख्य उदेश्य क्या है ?

Ans : किसानो को चाय की खेती के लिए प्रोत्साहित करना और नई-नई तकनीकों का इस्तेमाल करवाना।

Que : सरकार द्वारा किस राज्य के किसानो को इसका लाभ प्राप्त किया जाएगा ?

Ans : बिहार के किसानो को।

Que : इस योजना के लिए क्या आवेदन प्रक्रिया रखी गई है ?

Ans : आवेदन की स्थिति ऑनलाइन है।

Que : कितने रु की सब्सिडी किसानो को प्राप्त की जाएगी ?

Ans : 2.47 लाख रु।

Que : अनुदान राशि दो क़िस्त मे कितनी प्रदान होगी ?

Ans : 75.25 लाख रु।

Leave a Comment