यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना 2024 : आवेदन करे, UP Bhagya Lakshmi

हमरे देश मे काफी परिवार ऐसे है जो आर्थिक रूप से कमजोर है इसलिए वह बेटियों को बोझ समझते है क्योकि उनके पास आय साधन कम होता है। इसलिए वह बेटियों के जन्म को बोझ मानते है और उनकी भ्रूण हत्या तक कर दी जाती है। समाज मे लड़का और लड़की को दोनों एक सामान नहीं समझा जाता इसलिए सरकार द्वारा UP Bhagya Laxmi Yojana को शुरू किया जिससे कन्याओ के प्रति होने वाली नकारात्मक सोच मे बदलाव आ सके। लड़की का भविष्य बेहतर हो सके और प्रत्येक क्षेत्र मे आगे बढ़ सके। यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत सरकार द्वारा गरीब परिवार को आर्थिक सहायता दी जाएगी जिससे वह पढ़ाई से लेकर शादी तक का खर्च आसानी से उठा सके। अगर आप इस योजना से जुड़ी जानकारी प्रदान करना चाहते है तो आर्टिकल को पूरा अंत तक ध्यान से पढ़िए।

UP Bhagya Laxmi Yojana  

इस योजना के माध्यम से गरीब परिवार मे जन्म हुई लड़की को सहायता प्रदान की जाएगी ताकि बेटी-बेटे मे हो रहे भेदभाव को कम किया जा सके और भ्रूण हत्या जैसे अपराध पर भी रोक लगेगी। कन्याओ के जन्म से लेकर उनकी शिक्षा पूरी होने तक सरकार द्वारा राशि दी जाएगी जिससे वह अपना भविष्य उज्जवल बना सके। यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत बेटियों की स्थिति मे सुधार लाना और उनको शिक्षा के माध्यम से आगे बढ़ने के लिए शुरू की गई।

बेटियों के जन्म पर 50,000 रु दिए जाएंगे और जिन महिलाओ ने पुत्रियों को जन्म दिया है उनको 5,100 रु प्राप्त होंगे ताकि बच्चे का पालन अच्छे से हो सके। UP Bhagya Laxmi Yojana के अंतर्गत जब बालिका 6 वी कक्षा मे आएगी तो उसको 3000 रु प्रतिमाह मिलेंगे, 5000 रु 8 वी प्रवेश करने पर, 10000 रु की सहायता 10 वी मे मिलेगी और 12 वी मे 8000 रु प्रदान होंगे।

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना का उदेश्य

इस योजना का मुख्य उदेश्य बेटियों के प्रति होने वाली नकारात्मक सोच को बदलना और उनकी स्थिति मे सुधार करना है। UP Bhagya Laxmi Yojana के तहत कन्याओ के प्रति होने वाले अपराध जैसे-भ्रूण हत्या को कम किया जा सकेगा। बालिकाओ के जन्म से लेकर उनकी शिक्षा पूरी होने तक सरकार द्वारा सहायता प्रदान की जाएगी जिससे ज़्यादा से ज़्यादा लोग अपनी कन्याओ को पढ़ने के लिए प्रोत्साहित होंगे। हमारे देश मे बहुत लोग ऐसे है जिनकी आर्थिक स्थिति ठीक ना होने कारण उनके पैदा होने के बाद भरण-पोषण नहीं कर पाते और ना ही शिक्षा ग्रहण करा पाते है। इसलिए सरकार द्वारा सहायता राशि प्रदान की जाएगी जिससे विवाह करने मे किसी परेशानी का सामना ना करना पड़े। यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के माध्यम से लोगो की मानसिकता को बदलना और उनके प्रति जागरूकता लाना है जिससे लड़किया आगे बढ़ सके।

यूपी कन्या विद्या धन योजना

Detail of UP Bhagya Laxmi Yojana

योजना का नाम                                                              यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना
शुरू की गई                                                                     मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा
लाभ                                                                                   आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की बेटियों को मिलेगा
उदेश्य                                                                                  कन्याओ के जन्म होने पर उनको सहायता प्रदान करना जिससे लड़किया आगे बढ़ सके
आवेदन प्रक्रिया                                                                             ऑनलाइन
आधिकारिक वेबसाइट        https://mahilakalyan.up.nic.in/

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के लाभ 

  • जो आर्थिक रूप से कमजोर परिवार की बेटियाँ है उनको प्राप्त होगा।
  • सरकार द्वारा कन्याओ के लिए इस योजना को शुरू किया गया।
  • बेटी की 21 वर्ष होने के बाद उसके माता-पिता को 2,00,000 रु की राशि प्रदान की जाएगी।
  • एक परिवार की 2 बेटियों को इसका लाभ प्राप्त हो सकेगा।
  • UP Bhagya Laxmi Yojana के तहत को उच्च शिक्षा प्रदान करने के लिए प्रोत्साहित किया जाएगा।
  • लड़कियों की स्थिति मे सुधार आएगा और वह अपने भविष्य को उज्जवल बना सकेंगी।
  • राज्य के लोगो की बेटियों के प्रति होने वाली नकारात्मक सोच को बदलना और उनको सहायता प्रदान करना।
  • कन्या के जन्म होने पर 50,000 रु राशि प्राप्त होगी और 5,100 रु जिन महिला ने जन्म दिया है उनके भरण पोषण के लिए प्रदान किए जाएंगे।
  • बेटियों की स्थिति मे सुधार करने और शिक्षा के क्षेत्र मे वृद्धि करने के लिए इसको शुरू किया गया।
  • गरीब परिवार की महिला जब पोषण आहार प्राप्त करेगी तो वह माँ-बेटी दोनों स्वास्थ्य रहेंगे।
  • सहायता राशि प्रदान करके सभी कन्याए आत्मनिर्भर बनेंगी जिससे उनकी स्थिति मे भी सुधार आएगा।
  • माता-पिता को योजना के तहत 2 लाख रु तक सहायता प्रदान की जाएगी।
  • बेटियों के प्रति होने वाले भेदभाव को कम किया जा सकेगा और भ्रूण हत्या जैसे अपराध पर भी रोक लगेगी।
  • सरकार द्वारा कन्या के बीमार पड़ने पर 2,500 रु की मदद प्रदान होगी।

यूपी महिला सामर्थ्य योजना 

UP Bhagya Laxmi Yojana के लिए पात्रता

  • आवेदक को उत्तर प्रदेश का मूल निवासी होना अनिवार्य है।
  • 21 वर्ष आयु होने पर 2 लाख रु तक की मदद दी जाएगी।
  • गरीब रेखा के निचे जीवन यापन करने परिवार को इसका लाभ मिलेगा।
  • बेटी के जन्म होने पर 1 वर्ष पूर्ण होने पर पंजीकरण करवा सकते है।
  • एक परिवार की 2 बेटियों को योजना के तहत पात्र माना जाएगा।
  • 18 वर्ष आयु पूर्ण होने पर शादी के लिए 2,00,000 रु तक सहायता दी जा सकेगी।
  • परिवार की वार्षिक आय 2 लाख रु से कम होनी चाहिए।
  • योजना के तहत बालिका किसी भी सरकारी स्कूल मे शिक्षा प्रदान कर सकती है।
  • सहायता राशि कन्या के बैंक खाते मे ट्रांसफर की जाएगी।

UP Bijli Sakhi Yojana

यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना के तहत ज़रूरी दस्तावेज

  • आय प्रमाण पत्र
  • माता-पिता का आधार कार्ड
  • निवास प्रमाण पत्र
  • आंगनबाड़ी मे नामांकन
  • जाति प्रमाण पत्र
  • राशन कार्ड
  • पासपोर्ट साइज फोटो
  • लड़की का जन्म प्रमाण पत्र
  • मोबाइल नंबर
  • बैंक अकाउंट नंबर
  • बीपीएल सर्टिफिकेट

UP Bhagya Laxmi Yojana के अंतर्गत आवेदन प्रक्रिया

  • अगर आप आवेदन करना चाहते है तो सबसे पहले आपको इस योजना की

आधिकारिक वेबसाइट पर जाना है।

img-1
  • वेबसाइट से आपको यूपी भाग्यलक्ष्मी योजना का Application Form डाउनलोड कर लेना।
  • उस फॉर्म मे पूछी गई सभी जानकारी आपको ध्यान से दर्ज करनी पड़ेगी।
  • फॉर्म भरने के बाद आपको सभी दस्तावेजों को भी अटैच कर देना है।
  • उसके बाद Application form को आपको नजदीकी आंगनबाड़ी केंद्र या महिला कल्याण विभाग मे जाकर जमा करना पड़ेगा।
  • इस प्रकार आपकी आवेदन प्रक्रिया पूरी हो जाएगी।

FAQ’s

Que : इस योजना का मुख्य उदेश्य क्या है ?

Ans :बेटियों के प्रति होने वाली नकारात्मक सोच को बदलना और उनके जन्म होने पर सहायता राशि प्रदान करना।

Que : कन्या के जन्म होने पर कितने रु की सहायता प्राप्त होगी ?

Ans : सहायता 50,000 रु।

Que : कितनी परिवार की बेटियों को इसका लाभ मिलेगा ?

Ans : 2 कन्याओ को।

Que : किसके द्वारा इस योजना को शुरू किया गया ?

Ans : मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी द्वारा।

Que : बेटी की माँ के पौष्टिक आहार के लिए कितनी राशि दी जाएगी ?

Ans : 5,100 रु की मदद।

Que : किस राज्य मे इसको आरंभ किया गया ?

Ans  : उत्तर प्रदेश मे।

Follow Us

Leave a Comment